Agneepath Scheme 2022

अग्निपथ योजना क्या होता है? अग्निवीर किसे कहते हैं? अग्निवीर का काम क्या सब होता है? अग्निवीरों को क्या सब सुविधाएं मिलती है?

Agneepath Scheme क्या होता है?

अभी पूरे भारत देश में अग्निपथ स्कीम को लेकर चर्चा में है। अग्नीपथ योजना ऐसी योजना है, जिसके माध्यम से सेना में 4 साल के लिए युवाओं को भर्ती किया जाएगा।
14 जून 2022 को देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने घोषणा किया है कि 46 हजार युवाओं को इस साल Armed forces में भर्ती किया जाएगा।

Agneepath Scheme

अग्निवीर किसे कहा जाता है? Who is called Agniveer?

तीनों सेनाओं में नौजवानों की भर्ती के लिए अग्निपथ योजना को शुरू किया गया है। अग्निपथ योजना के अंतर्गत selected candidate को ही अग्निवीर कहा जाता है। अग्निवीर को सेनाओं की तरफ से 6 महीने की ट्रेनिंग भी दी जाएगी।
इस योजना के अंतर्गत शामिल किए गए युवाओं को 4 साल के लिए ही भर्ती किया जाएगा। इसकी उम्र 17 से 23 साल के बीच में ही होना चाहिए।

Overview of Agneepath Scheme
   योजना का नाम अग्नीपथ स्कीम
   साल 2022
   श्रेणी केंद्र सरकार योजना
   भर्ती भारतीय सेना
   विभाग सेना नौसेना वायु सेना
   पद अग्निवीर
   रिक्तियों की संख्या 46 हजार (46000)
   Website Click Here
   Official Website  Click Here

अग्नीपथ योजना और अग्निवीर से जुड़ी हुई कुछ मुख्य बातें

  • अग्नीपथ योजना के अंतर्गत अग्निवीरों को 4 साल के लिए सेना में भर्ती किया जाएगा।
  • युवाओं का उम्र 17 से 23 साल के बीच में होना चाहिए।
  • सेना की ओर से अग्नि वीरों को 6 महीने की ट्रेनिंग भी दी जाएगी।
  • अग्निवीर युवाओं को नौकरी में अन्य भत्तों को छोड़कर 30 हजार ( ₹30,000) से 40 हजार ( ₹40,000) का वेतन मिलेगा।
  • Agneepath scheme Army requirement के अंतर्गत अग्नि वीरों को 4 सालों के लिए ही सेना में भर्ती किया जाएगा और फिर उसके बाद उन्हें रिटायर कर दिया जाएगा।
  • Retirement के समय में Agniveer को ₹1200000 (12 लाख ) रुपए दिया जाएगा और भविष्य में उन्हें किसी प्रकार की कोई भी पेंशन नहीं दी जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत 25% अग्निवीरों को सेना में परमानेंट भर्ती कर दिया जाएगा।
  • 75% युवा चाहे तो अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं या फिर केंद्र सरकार और राज्य सरकार के विभिन्न भागों में जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Benefits of Agneepath Yojana / अग्निवीरों को क्या सब सुविधाएं मिलेगी ?

  •  अग्निवीरों के लिए 4 साल में शुरू किया जायेगा ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स जो कि देश और विदेश दोनों में मान्यता होगा।
  • अग्निवीरों को साल में 30 दिन की छुट्टी दी जाएगी।
    और उन्हें मेडिकल लीव अलग से मिलेगा जो कि उनके मेडिकल चेकअप चेकअप पर निर्भर करता है।
  • अग्निवीरों को प्रत्येक महीने 30 से 40 हजार वेतन दिया जाएगा।
  • CAPF केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल और असम राइफल में होने वाले भर्तियों में 10% सीट अग्निवीरों के लिए रिजर्व रहेगा।
  •  48 लाख तक का इंश्योरेंस अग्निवीरों का होगा। ड्यूटी में ही शहीद हो जाने पर सरकार की ओर से ₹44 लाख दिए जाएंगे और सेवा निधि पैकेज अलग रहेगा। और जितनी नौकरी बची होगी उसका पूरा सैलरी दिया जाएगा।
  • अग्नीपथ योजना के माध्यम से भारतीय सेना भारतीय वायु सेना और भारतीय नौसेना के लिए लगभग 46 हजार सैनिकों की भर्ती की जाएगी।
  •  अग्निवीरों को मासिक वेतन के साथ-साथ यूनिफॉर्म एलाउंस, कैंटीन , मेडिकल सुविधा हार्डशिप एलाउंस की सुविधा दिया जाएगा।
  • अग्निवीरों को ट्रैवल एलाउंस भी दिया जाएगा।
  • अग्निवीरों को वही सब सुविधाएं मिलेगी जो कि एक एयरफोर्स के नियमित सैनिकों को दिया जाता है।

Required Document for Agneepath Scheme / अग्निपथ योजना आवेदन के लिए जरूरी दस्तावेज 

  1. आय प्रमाण पत्र
  2. आयु प्रमाण पत्र
  3. निवास प्रमाण पत्र
  4. आधार कार्ड
  5. मोबाइल नंबर
  6. पासपोर्ट साइज फोटो
  7. मेडिकल सर्टिफिकेट
  8. ईमेल आईडी
  9. दसवीं और बारहवीं का मार्कशीट

Agneepath Scheme Selection Eligibility 2022

सेना के लिए –

  • शारीरिक स्वास्थ्य, शारीरिक मापक परीक्षण
  • लिखित परीक्षा (सामान्य प्रवेश परीक्षा के माध्यम से)
  • मेडिकल टेस्ट, medical test

वायु सेना के लिए –

  • अधिसूचित किया जाएगा
  • नौसेना के लिए-
  • अधिसूचित किया जाएगा

Agnipath Yojana का विरोध क्यों किया जा रहा है?

भारत में बिहार के साथ-साथ अन्य बहुत राज्यों में युवा इस योजना से खुश नहीं है और वह इस योजना का विरोध कर रहे हैं। देश के सभी छात्रों का कहना है कि 4 साल की नौकरी यानी की 4 साल के लिए सेना में भर्ती किया जाएगा और फिर उसे रिटायर कर दिया जाएगा, उसके साथ ना ही उसे कोई पेंशन दी जाएगी ना ही कोई ग्रेजुटी की सुविधा मिलेगी।
युवाओं का कहना है कि उनके हिसाब से यह ठीक नहीं है। यह छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करना है। लेकिन सही मायने में इस योजना के बारे में लोगो को समझना जरुरी है।

युवाओं के अंदर अग्निपथ स्कीम को लेकर आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है। उत्तर प्रदेश से लेकर बिहार तक युवाओं ने ट्रेनों में आग लगा दी । बहुत सारे जगह पर युवाओं ने रोड पर जाम कर दिया और वाहनों में आग लगा दी। अग्निपथ योजना के खिलाफ लगभग 13 राज्यों में बवाल मचाया गया है।

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में रेलवे स्टेशन पर खड़ी ट्रेन के खाली डिब्बे में ही आग लगा दी और उसके साथ साथ अलीगढ़ में एक पुलिस स्टेशन में ही आग लगा दिया। उत्तर प्रदेश में अब तक लगभग 260 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

बिहार में युवाओं ने तीन ट्रेन और 28 बोगीयो में आग लगा दी और राज्य सरकार ने सक्रियता को दिखाते हुए बिहार राज्य के 10 जिलों में इंटरनेट की सुविधा ही बंद करवा दिया गया।
समस्तीपुर, बेगूसराय, वैशाली, नवादा,रोहतास, पश्चिम चंपारण, औरंगाबाद, बक्सर, कैमूर, भोजपुर में इंटरनेट की सुविधा को बंद कर दिया गया।

शाहिद या फिर कोई हादसे का शिकार हो जाने के बाद अग्निवीर को क्या मिलेगा?

अगर कोई भी सेना इस सेवा के दौरान शहीद हो जाता है तो उसके परिवार को पूरा इंश्योरेंस दिया जाएगा। शहीद के परिवार को सेवा निधि के समेत लगभग 1 करोड़ रुपए मिलेंगे। इसके अलावा अगर शाहिद की बची हुई नौकरी है तो उसकी पूरी सैलरी भी उसके परिवार को दे दिया जाएगा।
कोई जवान सेवा के दौरान विकलांग हो जाता है तो उसे दिव्यांगता के प्रतिशत के हिसाब से 44 लाख रुपए दिए जाते हैं। और सेवा निधि के अलावा बची हुई नौकरी की पूरी सैलरी जवान को दे दिया जाता है।

हम रोजाना ऐसे ही जानकारी Newindiascheme.com के द्वारा आपके लिए लाते रहेंगे। इसके लिए हमारे website को follow करे, ताकि हमारे द्वारा new updates आपको सबसे पहले मिले । 

Thank you for reading this post…

Posted by – Rohit kumar

Also Read This

FAQ

Agneepath Scheme क्या होता है?

अभी पूरे भारत देश में अग्निपथ स्कीम को लेकर चर्चा में है। अग्नीपथ योजना ऐसी योजना है, जिसके माध्यम से सेना में 4 साल के लिए युवाओं को भर्ती किया जाएगा।
14 जून 2022 को देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने घोषणा किया है कि 46 हजार युवाओं को इस साल Armed forces में भर्ती किया जाएगा।

अग्निवीर किसे कहा जाता है?

तीनों सेनाओं में नौजवानों की भर्ती के लिए अग्निपथ योजना को शुरू किया गया है। अग्निपथ योजना के अंतर्गत selected candidate को ही अग्निवीर कहा जाता है। अग्निवीर को सेनाओं की तरफ से 6 महीने की ट्रेनिंग भी दी जाएगी।
इस योजना के अंतर्गत शामिल किए गए युवाओं को 4 साल के लिए ही भर्ती किया जाएगा। इसकी उम्र 17 से 23 साल के बीच में ही होना चाहिए।

शाहिद या फिर कोई हादसे का शिकार हो जाने के बाद अग्निवीर को क्या मिलेगा?

अगर कोई भी सेना इस सेवा के दौरान शहीद हो जाता है तो उसके परिवार को पूरा इंश्योरेंस दिया जाएगा। शहीद के परिवार को सेवा निधि के समेत लगभग 1 करोड़ रुपए मिलेंगे। इसके अलावा अगर शाहिद की बची हुई नौकरी है तो उसकी पूरी सैलरी भी उसके परिवार को दे दिया जाएगा।
कोई जवान सेवा के दौरान विकलांग हो जाता है तो उसे दिव्यांगता के प्रतिशत के हिसाब से 44 लाख रुपए दिए जाते हैं। और सेवा निधि के अलावा बची हुई नौकरी की पूरी सैलरी जवान को दे दिया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.