Harischandra Sahayata Yojana, harischandra sahayata yojana online apply

हरिशचंद्र सहायता योजना को उड़ीसा सरकार के द्वारा अगस्त 2013 में शुरू किया गया था। इस योजना में गरीबों और निराश्रित को उनके परिवार के सदस्य का अंतिम संस्कार करने के लिए और लावारिस शवों का अंतिम संस्कार के लिए इस योजना को लागू किया गया है। हमारे देश में कई सारे ऐसे लोग हैं जिनका आर्थिक स्थिति बहुत ही कमजोर होता है जिस कारण से अपने रिश्तेदार या फिर अपने परिवार के लोगो का अंतिम संस्कार करने में सक्षम नहीं होते हैं उन्हीं सबके लिए उड़ीसा सरकार ने हरिश्चंद्र सहायता योजना की शुरुआत की है। इस योजना से संबंधित सभी प्रकार का विवरण इस पोस्ट में मौजूद है।

Harischandra Sahayata Yojana

अब Harischandra Sahayata Yojana के बारे में जानते हैं।

हरिश्चंद्र सहायता योजना की शुरुआत उड़ीसा के सरकार के द्वारा की गई है। इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में 2000 हजार रुपए की वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी। और शहरी क्षेत्र में गरीब और विरासत को रोग ग्रस्त दाह संस्कार के लिए 3000 हजार रुपए की आर्थिक सहायता राशि दिया जाएगा। के अंतर्गत आवेदन करने के लिए उड़ीसा सरकार ने ऑनलाइन आवेदन करने के लिए एक सॉफ्टवेयर को भी लॉन्च की है।

  • हरिश्चंद्र योजना के अंतर्गत सरकार के द्वारा जरूरतमंद और गरीब लोगों को दाह संस्कार करने के लिए वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाती है।
  • पहले इस योजना को 16 जिलों में ही शुरू किया गया था।
  • उड़ीसा सरकार के द्वारा पिछले 2 वर्षों में 1.68 लाख गरीब और निराश्रित परिवारों को लगभग 32 करोड़ की वित्तीय सहायता राशि प्रदान किया गया है।
  • शवों को ले जाने के लिए भी उड़ीसा सरकार ने महाप्रयान रथ सेवा की शुरुआत की है।
  • इस योजना के अंतर्गत शवों को ले जाने के लिए 29 जिलों में 39 वाहन उपलब्ध कराया जायेगा।
  • मुख्यमंत्री राहत कोष CMRF Portal के माध्यम से सभी जिलों में सेवा प्रदान किया जाता है और CMRF Portal पर जाकर पंजीकरण फॉर्म आसानी से भर सकते हैं।
योजना का नाम हरिश्चंद्र सहायता योजना
राज्य का नाम ओडिशा
शुरू की गई मुख्यमंत्री नवीन पटनायक जी के द्वारा
लाभार्थी राज्य के सभी गरीब लोग
उद्देश्य दाह संस्कार के लिए सहायता प्रदान करना
आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन
अधिकारी वेबसाइट क्लिक हेयर
हमारा वेबसाइट क्लिक हेयर

हरिश्चंद्र सहायता योजना का क्या उद्देश्य है?

Harishchandra sahayata Yojana को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य यही है कि गरीबों के अंतिम संस्कार के लिए वित्तीय सहायता राशि प्रदान किया जा सके। उड़ीसा के नागरिकों को अपने रिश्तेदार या फिर रिश्तेदारों को अंतिम संस्कार के खर्च के लिए कोई भी चिंता करने की जरूरत नहीं होगी क्योंकि उनको सरकार के द्वारा ही वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र में 2000 हजार रुपए और शहरी क्षेत्र में गरीब और निराश्रित व्यक्तियों को 3000 हजार रुपए अंतिम संस्कार के लिए वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

Harischandra Sahayata Yojana के लाभ और विशेषताएं क्या क्या है?

  • हरिश्चंद्र सहायता योजना को उड़ीसा के सरकार के द्वारा शुरू किया गया है।
  • इस इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को 2000 हजार रुपए और शहरी क्षेत्र में गरीब और निराश्रित को रोग
  • ग्रस्त के दाह संस्कारों के लिए 3000 हजार रुपए की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी।
  • शवों को ले जाने के लिए 29 जिलों में 39 वाहन उपलब्ध कराया गया है और 6 मेडिकल कॉलेजों को 3 तीन वाहन दिया जाएगा।
  • इस योजना में 14 करोड़ रुपए मुख्यमंत्री राहत कोष से और बाकी के 4 करोड़ पर कलेक्टर के माध्यम से दिए जाते हैं।
  • इस योजना का ऑनलाइन आवेदन करने के लिए उड़ीसा सरकार ने ऑनलाइन आवेदन सॉफ्टवेयर को लॉन्च किए हैं।

हरिचंद्र सहायता योजना की पात्रता मानदंड और आवश्यक डाक्यूमेंट्स क्या है?

  • उड़ीसा के अस्थाई निवासी हो
  • गरीबी रेखा से नीचे आने वाले लोग इस योजना के पात्र माने जाते हैं।
  • आय प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • आवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी

हरिश्चंद्र सहायता योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करें। Harischandra sahayata yojana online apply

  • मुख्यमंत्री राहत कोष के अधिकारी वेबसाइट पर जाना है।
  • होम पेज पर हरिश्चंद्र सहायता योजना पर क्लिक करें।
  • उसके बाद लॉगइनपेज खुलकर आ जाएगा।
  • उस में यूजरनेम, पासवर्ड कैप्चा कोड भरे और लॉगइन पर क्लिक करें।
  • फोन खुल कर आ जाएगा आवेदन फॉर्म में सभी जानकारी स्पष्ट रूप से भरे।
  • सभी दस्तावेज को अपलोड करें और सबमिट पर क्लिक कर दें।
  • सभी प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद आप हरिश्चंद्र सहायता योजना के लिए आवेदन आसानी से हो जाएगा।

हरिश्चंद्र सहायता योजना का ऑनलाइन आवेदन कैसे किया जाता है? Harischandra sahayata yojana online apply

  • सबसे पहले उसके अधिकारी वेबसाइट से फॉर्म को डाउनलोड करना है।
  • उसका पीडीएफ बना कर उसका प्रिंट निकलवा लें।
  • आवेदन फॉर्म में सभी जानकारी सही से भरे और डाक्यूमेंट्स को अटैच करें।
  • इसके संबंधित विभाग में जाकर फॉर्म को जमा करवा दें।
  • ऑफलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

Harischandra sahayta yojana beneficiary list check 2022

  • पहले इसके अधिकारी वेबसाइट पर जाना है।
  • होम पेज पर मैन्यू में मजबूत HSY beneficiary details link के अंतर्गत आप साल को सेलेक्ट करें।
  • उसके बाद नेक्स्ट पेज पर harischandra sahayata Yojana online beneficiaries list खुल कर आ जायेगा।
  • आप चाहे तो उस लिस्ट को डाउनलोड भी कर सकते हैं।

हम रोजाना ऐसे ही जानकारी newindiascheme.com के द्वारा आपके लिए लाते रहेंगे । इसके लिए हमारे website को follow करे , ताकि हमारे द्वारा new updates आपको सबसे पहले मिले ।

Thank you for reading this post

Posted By – Rohit Kumar

Also Read

हरिश्चंद्र सहायता योजना का क्या उद्देश्य है?

Harishchandra sahayata Yojana को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य यही है कि गरीबों के अंतिम संस्कार के लिए वित्तीय सहायता राशि प्रदान किया जा सके। उड़ीसा के नागरिकों को अपने रिश्तेदार या फिर रिश्तेदारों को अंतिम संस्कार के खर्च के लिए कोई भी चिंता करने की जरूरत नहीं होगी क्योंकि उनको सरकार के द्वारा ही वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र में 2000 हजार रुपए और शहरी क्षेत्र में गरीब और निराश्रित व्यक्तियों को 3000 हजार रुपए अंतिम संस्कार के लिए वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी।
 

हरिश्चंद्र सहायता योजना क्या होता है?

Harischandra Sahayata Yojana की शुरुआत उड़ीसा के सरकार के द्वारा की गई है। इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में 2000 हजार रुपए की वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी। और शहरी क्षेत्र में गरीब और विरासत को रोग ग्रस्त दाह संस्कार के लिए 3000 हजार रुपए की आर्थिक सहायता राशि दिया जाएगा। के अंतर्गत आवेदन करने के लिए उड़ीसा सरकार ने ऑनलाइन आवेदन करने के लिए एक सॉफ्टवेयर को भी लॉन्च की है।

हरिश्चंद्र सहायता योजना के अंतर्गत कितना सहायता राशी दिया जाता है??

इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र में 2000 हजार रुपए और शहरी क्षेत्र में गरीब और निराश्रित व्यक्तियों को 3000 हजार रुपए अंतिम संस्कार के लिए वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जाएगी।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.