MP Prasuti Sahayata Yojana

हमारे देश के सरकार केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा गर्भवती महिलाओं के लिए उनके स्वास्थ्य और अच्छी देखभाल के लिए बहुत सारी योजनाएं चलाई जा रही है। आज हम एक ऐसी योजना के बारे में बताने जा रहे हैं जो मध्य प्रदेश के नागरिकों के लिए है| इस योजना का नाम प्रसूति सहायता योजना है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा 1 अप्रैल 2018 को इस योजना की शुरुआत की गई थी। जो गर्भवती महिला 18 साल से ऊपर की है वह इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं। आर्थिक रूप से कमजोर और मजदूर वर्ग की गर्भवती महिलाओं को सरकार के द्वारा सहायता के लिए ₹16000 की सहायता राशि दी जाती है। यह राशि दो किस्तों में दिया जाता है। इस योजना के लिए जो भी महिला आवेदन करना चाहती है उससे स्वास्थ्य केंद्र या परिवार कल्याण विभाग जाकर आवेदन फॉर्म लेना होता है। आज हम इस पोस्ट में Prasuti Sahayata Yojana से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी देने जा रहे हैं। जैसे प्रसूति योजना क्या है?, उद्देश्य, लाभ, पात्रता, जरूरी दस्तावेज, आवेदन की प्रक्रिया सभी प्रकार की जानकारी इस पोस्ट में हम आप लोगों के साथ साझा करेंगे।

Prasuti Sahayata Yojana 2022

Prasuti Sahayata Yojana क्यों शुरू किया गया?

प्रसूति सहायता योजना की शुरुआत  मध्य प्रदेश की सरकार के द्वारा किया गया है। इस योजना की शुरुआत आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग और श्रमिक गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता देने के लिए किया गया है। क्योंकि जो भी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की महिलाएं होती है वह समय-समय पर अपने गर्भ अवस्था में स्वास्थ्य की जांच नहीं करा पाती है। जिससे कि उनको सही पोषण नहीं मिल पाता है और इससे बच्चा और बच्चे की मां दोनों को नुकसान होता है। इसीलिए सरकार उन लोगों की मदद के लिए प्रसूति सहायता योजना की शुरुआत की है इस योजना के माध्यम से सरकार के द्वारा ₹16000 की धनराशि दिया जाता है ताकि गर्भावस्था में गर्भवती महिलाएं समय समय पर अपना स्वास्थ्य का जांच हॉस्पिटल जा करवा सके और उन्हें सही से पोषण मिल पाए। डॉक्टरों के सही परामर्श से सही पोषण और आहार ले पाए जिससे की मां और बच्चे दोनों स्वस्थ रहें। यह राशि दो किस्तों में दिया जाता है।

Madhya Pradesh Prasuti Sahayata Scheme 2022

मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा 1 अप्रैल 2018 को MP Prasuti Sahayata Yojana की शुरुआत की गई है। इस योजना के अंतर्गत सरकार के द्वारा गर्भवती आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की महिलाओं को वित्तीय सहायता राशि दी जाती है। के द्वारा प्रसव के समय 16000 हजार रुपए की राशि गर्भवती महिलाओं को दिया जाता है। आप लोगों को बता दें कि जो महिला मजदूरी या फिर श्रम का कार्य करके अपना जीवन यापन कर रही है वैसी महिला गर्भवती महिलाओं को सरकार के द्वारा सहायता राशि के साथ उनके डिलीवरी होने के 3 महीने पहले ही उनकी मजदूरी का 50% वेतन दिया जाता है। और इसके साथ-साथ ₹1000 की धनराशि श्रमिक महिलाओं को चेकअप करवाने के लिए दिया जाता है। जो भी महिला इस योजना का आवेदन करेगी उसके पास अपना बैंक खाता होना जरूरी होता है और उसका बैंक अकाउंट आधार कार्ड कार्ड से लिंक होना चाहिए।

State Madhya Pradesh
Scheme Prasuti sahayata Yojana 2022
कब लांच किया गया 1 अप्रैल 2018
किसके द्वारा लांच किया गया मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
लाभार्थी राज्य की शर्म कर बीपीएल श्रेणी में आने वाली गर्भवती महिला
उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर गर्भवती महिला को सहायता देना
योजना के प्रकार मध्य प्रदेश सरकारी योजना
सहायता राशि 16000 हजार रुपए
कितने किस्तों में दो किस्तों में दिया जाता है।
आवेदन की प्रक्रिया ऑफलाइन
Official website click here
Our website click here

कितने किस्तों में Prasuti Sahayata Yojana की सहायता राशि दी जाती है?

प्रसूति सहायता योजना के अंतर्गत दी जाने वाली राशि दो किस्तों में दिया जाता है।

  1. First Installment (पहला किस्त)
    इस योजना के अंतर्गत पहला किस्त महिला को ₹4000 दिया जाता है गर्भवती महिला को यह पहला किस्त किस्त जब डिलीवरी होने के 3 महीने पहले ही दी जाती है।
  2. Second installment (दूसरा किस्त)
    इस योजना के अंतर्गत दूसरा किस्त गर्भवती महिलाओं को ₹12000 दिया जाता है यह राशि महिला को तब दी जाती है। जब उनकी डिलीवरी हो जाती है और उसके बाद नए बच्चे को किसी प्रकार का कोई संक्रमण न हो इसीलिए उन्हें zero dose BCG, OPV, HEP टीका लगाया जाता है। टिका लगने के बाद पैसा दिया जाता है।

मध्य प्रदेश प्रसूति योजना से क्या लाभ मिलते हैं?

  • गर्भवती महिलाओं को सरकार के द्वारा 16000 हजार रुपए आर्थिक सहायता के रूप में दी जाती है।
    यह सहायता राशि दो किस्तों में दिया जाता है।
  • इस योजना के अंतर्गत मिलने वाली राशि लाभार्थी के सीधे बैंक के अकाउंट में ट्रांसफर किया जाता है।
  • प्रस्तुति सहायता योजना का लाभ शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्र की महिलाएं ले सकती है।
  • जो भी महिला जननी सुरक्षा योजना का लाभ दी है वह भी प्रसूति योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं।
  • प्रसूति सहायता योजना में बीपीएल श्रेणी से संबंधित गणपति महिलाओं को भी उचित पोषण के लिए सहायता राशि दी जाती है।
  • इस योजना का लाभ केवल मध्य प्रदेश राज्य की श्रमिक और गरीब परिवार की गर्भवती महिलाएं को ही दिया जाएगा।
  • जो भी महिला मजदूरी करती है उन्हें गर्भवती होने पर मजदूरी नहीं कर पाते तो ऐसी महिलाओं को सरकार के द्वारा मजदूरी का 50% वेतन डिलीवरी के 3 महीने पहले ही दी जाती है।

इस योजना के लिए क्या सब जरूरी दस्तावेज लगते है?

  • आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • आयु प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड
  • बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र
  • गर्भावस्था प्रमाण पत्र
  • श्रमिक पंजीकरण कार्ड
  • बैंक अकाउंट
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • वोटर आईडी कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो

Prasuti Sahayata Yojana Registration कैसे किया जाता है?

  • इस योजना का आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने आसपास के स्वास्थ्य केंद्र या भी परिवार कल्याण विभाग पर जाना है।
  • अपने साथ इस योजना से संबंधित सभी प्रकार के डाक्यूमेंट्स को लेकर जाना है वहां कार्यालय में अधिकारी से इस योजना के लिए आवेदन फॉर्म लेना है।
  • फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी को सही सही बड़े और सभी जरूरी डाक्यूमेंट्स की फोटोकॉपी उसके साथ अटैच कर देना है।
  • और फिर दोबारा आवेदन फॉर्म को उसी कार्यालय में जाकर जमा कर देने हैं।
  • उसके बाद आपकी आवेदन फॉर्म को अधिकारी के द्वारा सत्यापन किया जाएगा और फिर आपको इस योजना का लाभ मिल जाएगा।

हम रोजाना ऐसे ही जानकारी Newindiascheme.com के द्वारा आपके लिए लाते रहेंगे । इसके लिए हमारे website को follow करे , ताकि हमारे द्वारा new updates आपको सबसे पहले मिले ।

Thank you for reading this post

Posted By – Rohit Kumar

Also read

कितने किस्तों में prasuti sahayata Yojana की सहायता राशि दी जाती है?

प्रसूति सहायता योजना के अंतर्गत दी जाने वाली राशि दो किस्तों में दिया जाता है।

Madhya Pradesh prasuti sahayata scheme 2022 क्या है?

मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा 1 अप्रैल 2018 को MP prasuti sahayata Yojana की शुरुआत की गई है। इस योजना के अंतर्गत सरकार के द्वारा गर्भवती आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की महिलाओं को वित्तीय सहायता राशि दी जाती है। के द्वारा प्रसव के समय 16000 हजार रुपए की राशि गर्भवती महिलाओं को दिया जाता है। आप लोगों को बता दें कि जो महिला मजदूरी या फिर श्रम का कार्य करके अपना जीवन यापन कर रही है वैसी महिला गर्भवती महिलाओं को सरकार के द्वारा सहायता राशि के साथ उनके डिलीवरी होने के 3 महीने पहले ही उनकी मजदूरी का 50% वेतन दिया जाता है।

Prasuti Sahayata Yojana क्यों शुरू किया गया?

MP Prasuti Sahayata Yojana की शुरुआत  मध्य प्रदेश की सरकार के द्वारा किया गया है। इस योजना की शुरुआत आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग और श्रमिक गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता देने के लिए किया गया है।

Prasuti Sahayata Yojana registration कैसे किया जाता है?

इस योजना का आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने आसपास के स्वास्थ्य केंद्र या भी परिवार कल्याण विभाग जाकर आवेदन करना होता है|

मध्य प्रदेश प्रसूति योजना से लाभ किसको दिया जाता हैं?

इस योजना का लाभ केवल मध्य प्रदेश राज्य की श्रमिक और गरीब परिवार की गर्भवती महिलाएं को ही दिया जाता है|

इस योजना अंतर्गत कितनी राशी दी जाती है?

गर्भवती महिलाओं को सरकार के द्वारा 16000 हजार रुपए आर्थिक सहायता के रूप में दी जाती है।
यह सहायता राशि दो किस्तों में दिया जाता है।
MP Prasuti Sahayata Yojana के अंतर्गत मिलने वाली राशि लाभार्थी के सीधे बैंक के अकाउंट में ट्रांसफर किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.