other caste love marriage, आजकल के समय में लड़का और लड़की अपने लिए जीवनसाथी खुद भी ढूंढ लेते हैं। आज के समय में बहुत ज्यादा लोग inter caste marriage कर रहे हैं। inter caste marriage को बढ़ावा देने के लिए सभी राज्य में सरकार inter caste marriage scheme शुरू किए हैं। आज के इस पोस्ट में हम आपको मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के बारे में सभी जानकारी देंगे।

Inter caste marriage scheme Madhya Pradesh/ अंतरजातीय विवाह योजना मध्य प्रदेश

सबसे पहले मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना के बारे में हम जानते है –
अंतरजातीय विवाह का मतलब यह होता है कि दो अलग-अलग जातियों में विवाह होना। जैसे कि लड़का और लड़की अलग अलग जाति में शादी करते हैं तो उसे अंतरजातीय विवाह कहा जाता है।
मध्य प्रदेश की सरकार ने मध्य प्रदेश में इंटर कास्ट मैरिज को बढ़ावा देने के लिए अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना की शुरुआत की है।
आज भी हमारे समाज में जातियों को लेकर भेदभाव है। लोग एक दूसरे में भेदभाव करते हैं अलग-अलग धर्म में ऊंच-नीच में भेद भाव करते हैं।
आजकल के समय में युवक और युवती आ अंतर जाति विवाह करते हैं युवक और युवतियां जाति, धर्म, समाज की बिना परवाह किए हुए एक दूसरे से शादी कर लेते हैं।
पहले के समय में लड़का और लड़की का शादी होता था। तो उसके परिवार वाले उसके जीवनसाथी को चुनते थे लेकिन अब ऐसा नहीं लड़का और लड़की अपने जिंदगी के सभी फैसले खुद ही लेना चाहते हैं और अपने लिए जीवन साथी भी खुद ही ढूंढ लेते हैं।
अंतरजातीय विवाह करने पर सरकार के द्वारा प्रोत्साहन राशि दिया जाता है।
जो भी लोग अंतरजातीय विवाह करते हैं उनको मध्य प्रदेश की सरकार के द्वारा और 2.8 लाख रुपए आर्थिक मदद दी जाती है।

Inter Caste Marriage Scheme

 योजना का नाम  अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना
 विभाग का नाम  समाज कल्याण विभाग
 राज्य का नाम  मध्य प्रदेश
 शुरू किसके द्वारा किया गया  मध्य प्रदेश के सरकार
 लाभार्थी अंतरजातीय विवाह करने वाले लोग
 प्रोत्साहन राशि  2.5 लाख
 आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन
 official website Click Here
 Our website Click Here

Madhya Pradesh inter caste marriage Scheme का उद्देश्य क्या है?

Madhya Pradesh inter caste marriage scheme का उद्देश्य यही है कि जो भी युवक और युवती अंतरजातीय विवाह करते हैं उन लोगों को प्रोत्साहित करना है। अंतरजातीय विवाह योजना के तहत अगर कोई युवक और युवती शादी कर लेते हैं तो उन्हें प्रोत्साहन राशि दिया जाता है। अगर कोई लड़का और लड़की अंतरजातीय विवाह कर लेते हैं और उनके परिवार वाले उनको स्वीकार नहीं करते हैं तो उन्हें बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कुछ लोग को तो अपना घर भी छोड़ना पड़ जाता है। ऐसी परिस्थिति में उनके पास रहने के लिए कोई घर भी नहीं होता है और उन लोगों को बहुत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ जाता है।
लेकिन अब ऐसा कुछ भी नहीं है। अंतरजातीय विवाह करने वाले लोगों को अब को भी परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योंकि उन लोगों के लिए ही सरकार ने अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना की शुरुआत की है। जिस योजना के अंतर्गत उन लोगों को घर बनाने के लिए और आर्थिक सहायता के रूप में 2.5 लाख रुपए दिए जाएंगे।

Benefits Of Madhya Pradesh Inter caste Marriage Scheme 2022

  • मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना के अंतर्गत राज्य में जो भी लोग अंतरजातीय विवाह करते हैं। उन लोगों को सरकार के द्वारा 2.5 लाख रुपए प्रोत्साहन राशि दिया जाता है।
  • समाज में हो रहे छुआछूत के भेदभाव को भी इस योजना के माध्यम से खत्म किया जा सकता है।
  • मध्यप्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना के माध्यम से समाज में एकता आएगी।
  • मध्यप्रदेश अंतरजातीय प्रोत्साहन योजना का लाभ मध्यप्रदेश के अस्थाई निवासी ही ले सकते हैं।
  • इस योजना का लाभ लेने वाले लोगो परिवार का वार्षिक आय 5 लाख रूपए से अधिक नहीं हो।
  • अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का लाभ लेने के लिए पहले इसका ऑनलाइन आवेदन करना होता है उसके बाद शादीशुदा जोड़े को इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक के पास अपना बैंक खाता होना जरूरी होता है।
  • मध्यप्रदेश अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का लाभ लेने के लिए आपको शादी के 1 साल के अंदर ही आवेदन करना होता है।

मध्यप्रदेश अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना की पात्रता

  1. आवेदक के पास मध्य प्रदेश का मूल निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  2. अंतरजातीय विवाह करने वाले युवक और युवती की उम्र 35 वर्ष से कम हो।
  3. युवक और युवती किसी भी आपराधिक मामले में नहीं होनी चाहिए।
  4. युवक और युवती का विवाह पहली बार हो।
  5. परिवार का वार्षिक आय 5 लाख रुपए से कम होनी चाहिए।
  6. शादी के एक साल के अंदर ही आवेदन करना होता है।

अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का आवेदन करने के लिए क्या सबसे जरूरी डाक्यूमेंट्स लगते हैं?

  • मध्यप्रदेश अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का आवेदन करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज आपके पास होना जरूरी होता है।
  • मध्य प्रदेश का स्थाई प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • अनुसूचित जाति प्रमाण पत्र
  • विवाह प्रमाण पत्र
  • बैंक अकाउंट
  • स्वर्ण जाति से संबंधित दस्तावेज
  • समग्र आईडी कार्ड
  • विवाहित जोड़े का जॉइंट फोटो

Madhya Pradesh antarjatiy Vivah protsahan Yojana online apply / मध्यप्रदेश अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का ऑनलाइन आवेदन

  • अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले आपको इसके ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना है।
  • उसके बाद होम पेज पर अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • आवेदन फॉर्म में जो भी जानकारी पूछी गई है सभी जानकारी ध्यान से पढ़कर सही-सही भर देना है।
  • आवेदन फॉर्म में कुछ भी गलत नहीं होना चाहिए अगर कोई भी जानकारी गलत हो जाता है तो आपका आवेदन फॉर्म गलत माना जाएगा।
  • उसके बाद Next Step में अगर विवाहित जोड़े में से किसी एक ऊंचे जाति का है और एक अनुसूचित जाति का है तो दोनों को इस योजना का लाभ लेने के लिए डिस्टिक मजिस्ट्रेट को एक प्रार्थना पत्र लिखना है।
  • उसके बाद आवेदन पत्र के साथ जो भी इस योजना में जरूरी डॉक्युमेंट्स बोला गया सभी डाक्यूमेंट्स को अपलोड करने हैं।
  • आवेदन पत्रों का निरीक्षण किया जाता है निरीक्षण करने के बाद विवाहित जोड़े को चयन किया जाता है। उसके बाद ही आप को इस योजना का लाभ मिलेगा।

Helpline number

हम आपको मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी दी है। अगर फिर भी आपको कोई भी प्रकार की समस्या होती है तो आप इसके हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।
Helpline Number – 0736422-6831

inter caste marriage list, inter caste marriage list, inter caste marriage list, inter caste marriage list, inter caste marriage list, inter caste marriage list, other caste love marriage, other caste love marriage, other caste love marriage, other caste love marriage

हम रोजाना ऐसे ही जानकारी newindiascheme.com के द्वारा आपके लिए लाते रहेंगे । इसके लिए हमारे website को follow करे , ताकि हमारे द्वारा new updates आपको सबसे पहले मिले ।

Thank you for reading this post…

Posted By – Rohit kumar

Also Read

Madhya Pradesh inter caste marriage Scheme का उद्देश्य क्या है?

Madhya Pradesh inter caste marriage scheme का उद्देश्य यही है कि जो भी युवक और युवती अंतरजातीय विवाह करते हैं उन लोगों को प्रोत्साहित करना है। अंतरजातीय विवाह योजना के तहत अगर कोई युवक और युवती शादी कर लेते हैं तो उन्हें प्रोत्साहन राशि दिया जाता है। अगर कोई लड़का और लड़की अंतरजातीय विवाह कर लेते हैं और उनके परिवार वाले उनको स्वीकार नहीं करते हैं तो उन्हें बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कुछ लोग को तो अपना घर भी छोड़ना पड़ जाता है। ऐसी परिस्थिति में उनके पास रहने के लिए कोई घर भी नहीं होता है और उन लोगों को बहुत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ जाता है।
लेकिन अब ऐसा कुछ भी नहीं है। अंतरजातीय विवाह करने वाले लोगों को अब को भी परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योंकि उन लोगों के लिए ही सरकार ने अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना की शुरुआत की है। जिस योजना के अंतर्गत उन लोगों को घर बनाने के लिए और आर्थिक सहायता के रूप में 2.5 लाख रुपए दिए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.