Chirag Yojana Haryana, Chirag yojana full form

आप लोगो को तो पता ही होगा कि हरियाणा सरकार समय-समय पर अपने नागरिकों के लिए कई प्रकार की योजनाएं लाते रहती है। तो इन्हीं सब योजनाओं में से आज हम आपको ऐसी योजना के बारे में बताने जा रहे हैं जो योजना शिक्षा के क्षेत्र से जुड़ी हुई है और इस योजना से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी इस पोस्ट में हम आपको देंगे।

Chirag Yojana को क्यों शुरू किया गया?

हरियाणा राज्य में बहुत सारे ऐसे अभिभावक होते हैं जिनके इच्छा रहती है कि हमारे बच्चे प्राइवेट स्कूल में जाकर पढ़ाई करे लेकिन उनके पास इतना पैसा नहीं होता है कि वह अपने बच्चे को प्राइवेट स्कूल में पढ़ने पढ़ने भेजेंगे, इसी कारण से उनका सपना अधूरा ही रह जाता है। इसी सब समस्याओं को दूर करने के लिए हरियाणा सरकार की शिक्षा मंत्री ने Chirag Yojana Haryana के माध्यम से सरकारी स्कूल के बच्चे को भी प्राइवेट स्कूल में फ्री में पढ़ाने के लिए इस योजना की शुरुआत की है।

Chirag Yojana Haryana

अब हम जानेंगे कि हरियाणा चिराग योजना क्या होता है?

राज्य के गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार के बच्चों के लिए हरियाणा सरकार ने इस योजना के माध्यम से मुफ्त में शिक्षा प्रदान करेगी। उन परिवार के बच्चे को चिराग योजना का लाभ दिया जाएगा जिनके परिवार की वार्षिक आय 1.80 लाख रुपए से कम हो। चिराग योजना के अंतर्गत कक्षा 2 से लेकर 12वीं कक्षा तक छात्रों को मुफ्त में एडमिशन कराया जाता है। हरियाणा राज्य में बहुत सारे ऐसे परिवार हैं जो आर्थिक रूप से सक्षम नहीं होते हैं अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूल में पढ़ाने के लिए और जिससे कि उसे अच्छी शिक्षा मिल सके। लेकिन अब ऐसे परिवारों के लिए हरियाणा सरकार ने चिराग योजना लेकर आई है। इस योजना के माध्यम से उन सभी बच्चों प्राइवेट स्कूल में पढ़ सकते हैं। इस योजना को शुरू करने के लिए हरियाणा सरकार ने 134ए को समाप्त कर दिए हैं। अब इस योजना के माध्यम से आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के बच्चे भी मुफ्त में शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।

राज्य हरियाणा
योजना चिराग योजना
मंत्रालय का नाम शिक्षा मंत्रालय
लॉन्च किया गया जुलाई 2022
लागू किया गया शिक्षा विभाग हरियाणा मुख्यमंत्री
लाभार्थी राज्य के गरीब छात्र
उद्देश्य प्राइवेट स्कूल में फ्री में पढ़ना

चिराग योजना के अंतर्गत कितने विद्यार्थियों का एडमिशन दिया जाएगा?

सरकार के द्वारा इस योजना में 24986 सीटों को आरक्षित किया गया है। इन सीटों पर विद्यार्थियों का चयन हरियाणा चिराग योजना के ऑनलाइन फॉर्म भरने के आधार पर किया जाएगा।

  • दूसरी कक्षा में एडमिशन लेने वाले छात्रों की संख्या 2370
  • तीसरी कक्षा में 2411
  • चौथी कक्षा में 2427
  • पांचवीं कक्षा में 2338
  • छठी कक्षा में 2413
  • सातवीं कक्षा में 2400
  • आठवीं कक्षा में 2383
  • नौवीं कक्षा में 2221
  • दसवीं कक्षा में 2174
  • 11वीं कक्षा में 1858
  • 12वीं कक्षा में 1009

Features and benefits of Chirag Scheme

  • चिराग योजना का लाभ आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के बच्चे को दिया जाता है।
  • इस योजना के माध्यम से हरियाणा राज्य में स्कूली शिक्षा का स्तर भी बेहतर होगा।
  • गरीब परिवार के बच्चे को प्राइवेट स्कूल में फ्री में शिक्षा दिया जाएगा।
  • अच्छी शिक्षा मिलने के कारण उनके जीवन में कई प्रकार के सकारात्मक बदलाव भी होंगे।
  • कुछ अभिभावक का सपना होता है अपने बच्चे को प्राइवेट स्कूल में पढ़ाने की उनकी भी इच्छा पूरी होगी।
  • स्कूल में एडमिशन मिलने से सीबीएसई पेटर्न की शिक्षा हासिल कर पाएंगे।
  • अच्छी और बेहतर शिक्षा मिलने के कारण अपने जीवन में अच्छी तरक्की करने में कोई भी कठिनाई नहीं होगी।
  • जिसके परिवार का वार्षिक आय 1.80 लाख है, वही चिराग योजना का लाभ ले सकते है।
  • इस योजना के माध्यम से सरकारी स्कूल के बच्चे को भी निजी प्राइवेट स्कूल में पढ़ने का मौका दिया जाएगा।

चिराग योजना का उद्देश्य क्या है?

हरियाणा चिराग योजना का उद्देश्य यही है कि आर्थिक राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के विद्यार्थियों को प्राइवेट स्कूलों में फ्री में शिक्षा प्रदान किया जा सके इस योजना के माध्यम से राज्य के कक्षा 2 से लेकर 12वीं कक्षा तक के छात्रों को लाभ दिया जाएगा। गरीब परिवार के लोग अपने बच्चे का एडमिशन प्राइवेट स्कूल में नहीं करा पाते हैं। क्योंकि प्राइवेट स्कूल की फीस कुछ ज्यादा होती है इस सब समस्याओं को देखते हुए हरियाणा राज्य के शिक्षा मंत्रालय के द्वारा बच्चों को प्राइवेट स्कूल में फ्री में शिक्षा प्राप्त करवाने के लिए Chirag Yojana को शुरू किया गया।

Require Documents of Haryana Chirag Yojana

  • जन्म प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • छात्रों के पास TC सर्टिफिकेट होना जरूरी होता है।

Eligibility of Chirag Yojana

  1. आवेदक को हरियाणा के निवासी होना जरूरी होता है।
  2. छात्र के परिवार का वार्षिक आय 1 लाख 80 हजार रुपए से कम होनी हो।
  3. छात्र हरियाणा राज्य के दूसरी कक्षा से लेकर बारहवीं तक के निजी स्कूल में पढ़ाई कर सकते हैं।

Haryana Chirag Yojana

आप सभी लोगों को बता दें कि सरकार के द्वारा अभी इस योजना के लिए कोई भी ऑफिशियल वेबसाइट को जारी नहीं किया गया है ना ही कोई हेल्पलाइन नंबर जारी की गई है जैसे ही इस योजना से का ऑफिशियल वेबसाइट दिया जाएगा तो इस पोस्ट के माध्यम से आप लोगों तक जानकारी दी जाएगी। इसीलिए अभी आप लोगों को योजना के बारे में और जानकारी प्राप्त करने के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा।

हम रोजाना ऐसे ही जानकारी newindiascheme.com के द्वारा आपके लिए लाते रहेंगे । इसके लिए हमारे website को follow करे , ताकि हमारे द्वारा new updates आपको सबसे पहले मिले ।

Thank you for reading this post

Posted By – Rohit Kumar

Also Read 

चिराग योजना का उद्देश्य क्या है?

हरियाणा चिराग योजना का उद्देश्य यही है कि आर्थिक राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के विद्यार्थियों को प्राइवेट स्कूलों में फ्री में शिक्षा प्रदान किया जा सके इस योजना के माध्यम से राज्य के कक्षा 2 से लेकर 12वीं कक्षा तक के छात्रों को लाभ दिया जाएगा। गरीब परिवार के लोग अपने बच्चे का एडमिशन प्राइवेट स्कूल में नहीं करा पाते हैं। क्योंकि प्राइवेट स्कूल की फीस कुछ ज्यादा होती है इस सब समस्याओं को देखते हुए हरियाणा राज्य के शिक्षा मंत्रालय के द्वारा बच्चों को प्राइवेट स्कूल में फ्री में शिक्षा प्राप्त करवाने के लिए चिराग योजना को शुरू किया गया।

हरियाणा चिराग योजना क्या होता है?

राज्य के गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार के बच्चों के लिए हरियाणा सरकार ने इस योजना के माध्यम से मुफ्त में शिक्षा प्रदान करेगी। उन परिवार के बच्चे को Chirag Yojana का लाभ दिया जाएगा जिनके परिवार की वार्षिक आय 1.80 लाख रुपए से कम हो। चिराग योजना के अंतर्गत कक्षा 2 से लेकर 12वीं कक्षा तक छात्रों को मुफ्त में एडमिशन कराया जाता है।

चिराग योजना के अंतर्गत कितने विद्यार्थियों का एडमिशन दिया जाएगा?

सरकार के द्वारा इस योजना में 24986 सीटों को आरक्षित किया गया है। इन सीटों पर विद्यार्थियों का चयन हरियाणा चिराग योजना के ऑनलाइन फॉर्म भरने के आधार पर किया जाएगा।

चिराग योजना को क्यों शुरू किया गया?

हरियाणा राज्य में बहुत सारे ऐसे अभिभावक होते हैं जिनके इच्छा रहती है कि हमारे बच्चे प्राइवेट स्कूल में जाकर पढ़ाई करे लेकिन उनके पास इतना पैसा नहीं होता है कि वह अपने बच्चे को प्राइवेट स्कूल में पढ़ने पढ़ने भेजेंगे, इसी कारण से उनका सपना अधूरा ही रह जाता है। इसी सब समस्याओं को दूर करने के लिए हरियाणा सरकार की शिक्षा मंत्री ने Chirag Yojana Haryana के माध्यम से सरकारी स्कूल के बच्चे को भी प्राइवेट स्कूल में फ्री में पढ़ाने के लिए इस योजना की शुरुआत की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.